Breaking News
Home / देश / दिल्ली / हाईकोर्ट ने आरबीआई से पूछा- गूगल का पेमेंट ऐप बिना मंजूरी कैसे चल रहा

दिल्ली / हाईकोर्ट ने आरबीआई से पूछा- गूगल का पेमेंट ऐप बिना मंजूरी कैसे चल रहा

  • जनहित याचिका पर अदालत ने आरबीआई, गूगल इंडिया को नोटिस जारी किया
  • याचिकाकर्ता ने कहा- आरबीआई की अधिकृत लिस्ट में गूगल का ऐप जी-पे शामिल नहीं

नई दिल्ली. हाईकोर्ट ने आरबीआई से पूछा है कि उसकी मंजूरी के बिना गूगल का मोबाइल पेमेंट ऐप जी-पे कैसे चल रहा है। चीफ जस्टिस राजेंद्र मेनन और जस्टिस ए जे भंभानी की बेंच ने बुधवार को एक जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान आरबीआई से यह सवाल किया। अदालत ने आरबीआई और गूगल इंडिया को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

याचिकाकर्ता अभिजीत मिश्रा ने कहा था कि जी-पे पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर की सेवाएं देकर पेमेंट्स एंड सेटलमेंट्स एक्ट का उल्लंघन कर रहा है क्योंकि यह आरबीआई से अधिकृत नहीं है। मिश्रा ने दलील दी कि 20 मार्च 2019 को रिजर्व बैंक ने अधिकृत पेमेंट सिस्टम ऑपरेटर्स की लिस्ट जारी की थी। उसमें जी-पे शामिल नहीं था।

About Yogesh Singh

Check Also

विवाद / अमेजन हिंदू देवताओं की फोटो लगे जूते और टॉयलेट सीट कवर बेच रहा, सोशल मीडिया पर लोगों ने गुस्सा जताया

ट्विटर पर #बायकॉटअमेजन का ट्रेंड चला, कई लोगों ने ऐप हटाया लोग एक-दूसरे से अमेजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *