Breaking News
Home / राजनीति / एनालिसिस / भाजपा का 8वीं बार राम मंदिर का वादा, ‘न्याय’ के जवाब में पेंशन; 10 प्रमुख मुद्दों पर कांग्रेस से मुकाबला

एनालिसिस / भाजपा का 8वीं बार राम मंदिर का वादा, ‘न्याय’ के जवाब में पेंशन; 10 प्रमुख मुद्दों पर कांग्रेस से मुकाबला

  • कांग्रेस के 55 पन्ने के घोषणा पत्र में 52 विषयों पर 487 बातें, भाजपा के 50 पेज के संकल्प पत्र में 12 विषयों पर 93 वादे
  • कांग्रेस की न्याय योजना 5 करोड़ गरीब परिवारों के लिए, 72 हजार रुपए सालाना देने का वादा
  • भाजपा का छोटे किसानों और छोटे दुकानदारों को पेंशन सुविधा देने का वादा, 15 करोड़ लोगों को लुभाने की कोशिश
  • भाजपा के 1999 के घोषणा पत्र में राम मंदिर, यूनिफॉर्म सिविल कोड और अनुच्छेद 370 का मुद्दा नहीं था

नई दिल्ली. कांग्रेस के छह दिन बाद भाजपा ने भी लोकसभा चुनाव के लिए घोषणा-पत्र जारी कर दिया। इसे संकल्प पत्र नाम दिया गया है। भाजपा ने 8वीं बार राम मंदिर का वादा किया है। पार्टी ने कहा है कि मंदिर निर्माण के लिए वह संवैधानिक दायरे में रहकर संभावनाएं तलाशेगी। भाजपा ने गरीब परिवारों को सालाना 72 हजार रुपए देने की कांग्रेस की न्याय योजना के जवाब में पेंशन का वादा किया है। भाजपा ने कहा है कि दोबारा सत्ता में आने पर वह छोटे किसानों और छोटे दुकानदारों को पेंशन देगी।

कांग्रेस ने 10 करोड़ वोटरों के लिए न्याय का वादा किया, भाजपा 15 करोड़ लोगों को पेंशन से लुभाएगी
कांग्रेस के घोषणा पत्र में प्रमुख वादा न्याय योजना का है। इसके तहत 5 करोड़ बेहद गरीब परिवारों को हर साल 72 हजार रुपए देने का वादा किया गया है। इसका फायदा 20 करोड़ गरीबों को मिल सकता है, लेकिन इनमें से गरीब वोटर करीब 10 करोड़ हैं। माना जा रहा है कि कांग्रेस की इसी योजना के जवाब में भाजपा ने पेंशन का वादा किया है। यह पेंशन 12 करोड़ छोटे किसानों और 3 करोड़ छोटे दुकानदारों को दी जाएगी। इन 15 करोड़ में से वोटर कितने हैं, यह साफ नहीं है। कांग्रेस ने जहां न्याय योजना की संक्षिप्त रूपरेखा बताई थी, वहीं भाजपा ने पेंशन योजना का मसौदा नहीं बताया है।

1999 में भाजपा के तीन प्रमुख मुद्दे घोषणा पत्र से गायब रहे
भाजपा का यह 10वां लोकसभा चुनाव है। इनमें से 8 बार भाजपा ने राम मंदिर, यूनिफॉर्म सिविल कोड और अनुच्छेद 370 का जिक्र किया है। भाजपा ने पहला चुनाव 1984 में लड़ा था। उस वक्त के घोषणा पत्र में भाजपा ने सिर्फ जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 को हटाने की बात कही थी। इसके बाद भाजपा ने 1989 से लेकर 1998 तक लगातार चार लोकसभा चुनावों के घोषणा पत्र में तीनों मुद्दों को शामिल किया। हालांकि, 1999 के आम चुनाव में भाजपा के घोषणा पत्र से ये तीनों मुद्दे गायब रहे। इसी साल भाजपा ने 182 सीटें जीतीं और पहली बार 5 साल का कार्यकाल पूरा किया। हालांकि, 2004 के घोषणापत्र में भाजपा ने फिर से तीनों मुद्दों को अपने घोषणापत्र में शामिल किया।

पहली बार घोषणा पत्र में गाय नहीं
यह पहला मौका है जब भाजपा के घोषणा पत्र में ‘गाय’ का जिक्र नहीं है। इससे पहले 1984 से लेकर 2014 तक अपने 9 चुनावी घोषणा पत्र में हर बार भाजपा ने गौरक्षा और गौसंवर्धन का जिक्र किया था। इनमें गौहत्या पर बैन लगाने से लेकर गौशालाओं के विकास के कई वादे शामिल रहे।

10 प्रमुख मुद्दों पर भाजपा-कांग्रेस के वादे

1) किसान

कांग्रेस का वादा

भाजपा का संकल्प

किसानों का अलग बजट होगा, कर्ज नहीं चुका पाए तो फौजदारी केस नहीं चलेगा

6000 रुपए सालाना की सम्मान निधि हर किसान को मिलेगी, 1 लाख तक के किसान क्रेडिट कार्ड लोन पर 5 साल तक ब्याज नहीं लगेगा

कृषि विकास आयोग बनाएंगे, बड़े गांवों में किसान बाजार बनाएंगे

छोटे किसानों को पेंशन देंगे, 2022 तक किसानों की आय दोगुनी होगी

 

2) गांव

कांग्रेस का वादा

भाजपा का संकल्प

ग्रामीण बुनियादी ढांचा कोष बनाएंगे

5 साल में गांवों में 25 लाख करोड़ खर्च हाेंगे

486 लोकसभा सीटों पर किसान और ग्रामीण आबादी वाले वोटरों का असर, 2014 में भाजपा को इनके 31% और कांग्रेस को 19% वोट मिले

 

3) गरीब

कांग्रेस का वादा

भाजपा का संकल्प

न्याय योजना: सबसे गरीब 5 करोड़ परिवारों को सालाना 72 हजार रुपए देंगे

5 साल में गरीबी की दर एक अंक में लाएंगे, हर गरीब परिवार को रसोई गैस कनेक्शन, 1.25 लाख हेल्थ केयर सेंटर

12 हजार रुपए की न्यूनतम आय सुनिश्चित होगी

कच्चे घरों में रहने वाले हर परिवार को 2022 तक पक्का मकान, हर घर तक बिजली, साफ पेयजल

मनरेगा में 100 की जगह 150 दिन रोजगार गारंटी मिलेगी

80 करोड़ लोगों को 13 रुपए प्रति किलो की कम दर पर चीनी

देश में निम्न आय वर्ग के 10 करोड़ वोटर, 2014 में भाजपा को इनके 28% और कांग्रेस को 19% वोट मिले

 

4) युवा और रोजगार

कांग्रेस का वादा

भाजपा का संकल्प

युवाओं को बिजनेस के लिए तीन साल तक कोई परमिशन नहीं लेनी होगी

30 करोड़ लोगों को कर्ज देंगे, उद्यमियों को 50 लाख तक के कोलैटरल क्रेडिट के लिए नई योजना लाएंगे

22 लाख रिक्त सरकारी पदों को मार्च 2020 तक भरेंगे, 10 लाख युवाओं को ग्राम पंचायत में नौकरी देंगे

22 चैम्पियन सेक्टर्स की पहचान कर वहां रोजगार के नए अवसर पैदा करेंगे

इस बार 8.3 करोड़ नए वोटर, 2014 में ऐसे वोटरों ने भाजपा को 39%, कांग्रेस को 19% वोट दिए

 

5) महिला

कांग्रेस का वादा

भाजपा का संकल्प

महिलाओं को विधानसभाओं, लोकसभा में 33% आरक्षण

महिलाओं को विधानसभाओं, लोकसभा में 33% आरक्षण, तीन तलाक के खिलाफ कानून

देश में कुल 48% महिला वोटर्स

 

6) कारोबार

कांग्रेस का वादा

भाजपा का संकल्प

नया जीएसटी 2.0 आएगा, करदाताओं की टैक्स क्षमताओं पर ध्यान देंगे

छोटे दुकानदारों को पेंशन देंगे, जीएसटी को और सरल करेंगे

 

7) कश्मीर

कांग्रेस का वादा

भाजपा का संकल्प

सशस्त्र बल विशेष शक्ति अधिनियम की समीक्षा होगी, कश्मीर के लोगों से बिना शर्त बातचीत होगी

कश्मीर को अलग स्वायत्त राज्य का दर्जा देने वाला अनुच्छेद 370 रद्द करेंगे, कश्मीर के विकास में बाधक अनुच्छेद 35ए हटाएंगे

 

8) कानून/धाराएं

कांग्रेस का वादा

भाजपा का संकल्प

देशद्रोह की धारा 124-ए खत्म की जाएगी

संवैधानिक दायरे में जल्द राम मंदिर निर्माण की संभावनाएं तलाशेंगे; यूनिफॉर्म सिविल कोड लाएंगे

 

9) आयोग

कांग्रेस का वादा

भाजपा का संकल्प

नया योजना आयोग होगा

राष्ट्रीय व्यापार आयोग, जल शक्ति आयोग बनेगा

 

10) आतंकवाद

कांग्रेस का वादा

भाजपा का संकल्प

3 महीने में राष्ट्रीय आतंकवाद विरोधी केंद्र बनेगा

जीरो टॉलरेंस और सुरक्षा बलों को फ्री हैंड की नीति जारी रहेगी

 

About Yogesh Singh

Check Also

newsdunia24

सर्वे / 43% ने कहा- पीएम पद पर मोदी पहली पसंद, लेकिन 41% मानते हैं उन्होंने राफेल में गड़बड़ी की

सर्वे 19 राज्यों में 24 से 31 मार्च के बीच किया गया इसमें 101 लोकसभा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *