Breaking News
Home / देश / खुद को हिंदुस्तानी कहने पर भड़का अफजल गुरु का बेटा गालिब, बोला- भारत ने मेरे बाप को मारा है

खुद को हिंदुस्तानी कहने पर भड़का अफजल गुरु का बेटा गालिब, बोला- भारत ने मेरे बाप को मारा है

श्रीनगर। 2001 में संसद हमले का दोषी अफजल गुरु के बेटे गालिब गुरु ने भारत के खिलाफ पासपोर्ट न बनाने को लेकर नाराजगी जाहिर की हैं। दो दिन पहले एक अंग्रेजी अखबार में गालिब बारे में रिपोर्ट छपी थी। इसमें अफजल के बेटे को भारतीय नागरिक होने पर गर्व बताया था। लेकिन अब गालिब गुरु ने इस खबर को फर्जी बताया है। उसने कहा है कि उसे इंडियन होने पर कोई गर्व नहीं है और न ही वो खुद को इंडियन मानता है। उसने बताया कि उसका आधार कार्ड बन चुका है और उसे मेडिकल की पढ़ाई के लिए तुर्की में स्कॉलरशिप मिल चुकी है। इसके लिए उसे भारत का पासपोर्ट चाहिए। एक बार उसका पासपोर्ट एप्लीकेशन रिजेक्ट भी हो चुकी है। गालिब ने एक वीडियो में अपने पिता अफजल गुरु की मौत का जिम्मेदार भारत को माना है। बता दें कि तीन दिन पहले एक अखबार में गालिब गुरु का इंटरव्यू दिया। इसमें कहा गया था कि अफजल के बेटे को हिंदुस्तानी होने पर गर्व है।

क्या है वीडियो
– एक नए वीडियो में गालिब गुरु ने बताया- “अखबार के लोगों ने मेरे पासपोर्ट के बारे में एक बाइट निकालने के लिए कहा था। लेकिन जब सुबह मैंने आर्टिकल पढ़ा तो, साफ तौर पर एक दम अलग चीज लिखी थी। मेरा प्रोपेगैंडा सिर्फ ये था कि अगर मेरे पास आधार कार्ड होता है तो मेरे पास पासपोर्ट क्यों नहीं हो सकता। ये मेरे लिए प्रोपेगैंडा था। मैंने सिर्फ इसलिए बोला था कि इस साल मैंने दूसरी बार पासपोर्ट के अप्लाय किया है। तुर्की में मुझे स्कॉलरशिप मिली है, इसलिए मैंने उन्हें बोला था कि मेरा पासपोर्ट होना चाहिए।”

– “लेकिन अखबार ने पूरा अलग आर्टिकल लिखा। कुछ थोड़ी अजीब चीजें भी लिखीं। मतलब अपना ही मिक्सअप किया कि मैं इंडियन सिटिजन प्राउड हूं। लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि मैं कैसे इंडियन सिटिजन प्राउड हो सकता हूं…उन्होंने मेरे पापा को मारा है। उन्होंने मेरे पूरे परिवार के साथ नाइंसाफी की है, पूरे कश्मीर के साथ नाइंसाफी की है। तो मैं कैसे प्राउड कर सकता हूं। मेरा बस ये ही प्रोपेगैंडा था कि जब मेरे पास आधारकार्ड है तो पासपोर्ट क्याें नहीं।”

अफजल गुरु का दी गई थी फांसी
2001 में संसद हमले की साजिश रचने का दोषी मानते हुए सुप्रीम कोर्ट ने अफजल गुरु को फांसी की सजा दी थी। जब 2013 में उसे फांसी दी गई, उस समय गालिब गुरु दो साल का था।

About Yogesh Singh

Check Also

विवाद / अमेजन हिंदू देवताओं की फोटो लगे जूते और टॉयलेट सीट कवर बेच रहा, सोशल मीडिया पर लोगों ने गुस्सा जताया

ट्विटर पर #बायकॉटअमेजन का ट्रेंड चला, कई लोगों ने ऐप हटाया लोग एक-दूसरे से अमेजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *