Breaking News
Home / देश / हिमालय में आज बहती है अमृत की दिव्य नदी..जिसका जल पीने से अमर हो चुके हैं 7 साधु

हिमालय में आज बहती है अमृत की दिव्य नदी..जिसका जल पीने से अमर हो चुके हैं 7 साधु

New Delhi :  हिमालय पर्वत हिंदू धर्म की सबसे खास और पवित्र जगहों में से एक माना जाता है। हिमालय पर्वत अपनेआप में कई रहस्य छुपाए हुए हैं। जो कि इसे और भी खास बनाते हैं। आज हम अपको हिमालय पर्वत से जुड़े ऐसी ही कुछ रहस्यों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें बहुत ही कम लोग जानते होंगे।

जानिए हिमालय पर्वत से जुड़े 7 अनोखें रहस्य- 1. देव स्थान- धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, प्राचीन काल में हिमालय में ही देवता रहते थे। यहीं पर भगवान ब्रह्मा, विष्णु और शिव का स्थान था और यहीं पर नंदनकानन वन में इंद्र का राज्य था। इंद्र के राज्य के पास ही गंधर्वों और यक्षों का भी राज्य था। स्वर्ग की स्थिति दो जगह बताई गई हैं- पहली हिमालय में और दूसरी कैलाश पर्वत के कई किलोमीटक ऊपर।

2. मानव की उत्पत्ति – कई शोधों के अनुसार, यह कहा जाता है कि मानव की उत्पत्ति हिमालय में ही हुई थी। कई धर्म ग्रंथों में पााए जाने वाले वर्णन के अनुसार, हिमालय क्षेत्र की विवस्ता नदी के किनारे मानव की उत्पत्ति हुई थी। 3. सभी धर्मों के लिए खास- हिमालय पर्वत और उसके आस-पास से क्षेत्र में जैन, बौद्ध और हिन्दू धर्मों के कई प्राचीन मठ और गुफाएं हैं। जिनमें कई ऋषि-मुनियों और तपस्वियों ने हजारों वर्षों तक तपस्या की। इसी वजह से हिमालय सिर्फ हिंदू धर्म में ही नहीं बल्कि सभी धर्मों के लिए बहुत ही खास माना जाता है।

4. जड़ी-बूटियों का भंडार- प्राचीन कथाओं के अनुसार, हनुमानजी हिमालय के एक क्षेत्र से ही संजीवनी का पर्वत उखाड़कर ले गए थे। हिमालय ही एकमात्र ऐसा क्षेत्र है, जहां दुनियाभर की जड़ी-बूटियों का भंडार है।  हिमालय में लाखों जड़ी-बूटियां हैं जिससे व्यक्ति के हर तरह के रोगों के दूर किया जा सकता है। इसके अलावा ऐसी भी कई चमत्कारिक जड़ी-बूटियां हैं, जिनका वर्णन अथर्ववेद, आयुर्वेद और जड़ी-बूटियों के ग्रंथों में मिलता है।

5. यहां पाया जाता है अनोखा कस्तूरी मृग- हिमालय में ऐसे कई जीव-जंतु हैं, जो बहुत ही दुर्लभ है। उनमें से एक दुनिया का सबसे दुर्लभ मृग है कस्तूरी मृग। यह हिरण उत्तर पाकिस्तान, उत्तर भारत, चीन, तिब्बत, साइबेरिया, मंगोलिया में ही पाया जाता है। इस मृग की कस्तूरी बहुत ही सुगंधित और औषधीय गुणों से युक्त होती है। 6. हिमालय क्षेत्र में बसे हैं कई महत्वमूर्ण तीर्थ- हिमालय में कुछ हजारों ऐसे स्थान हैं जिनको देवी-देवताओं और तपस्वियों के रहने का स्थान माना गया है। हिमालय पर्वत क्षेत्र में ही कैलाश, मानसरोवर, अमरनाथ, कौसरनाग, वैष्णोदेवी, पशुपतिनाथ, हरिद्वार, बद्रीनाथ, केदारनाथ, गोमुख, देवप्रयाग,ऋषिकेश तथा अमरनाथ जैसे और भी स्थान हैं, जहां तीर्थ की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण माने जाते हैं।

7. सबसे बेहतर वातावरण- हिमालय पर्वत का वातावरण किसी भी अन्य जगह से मुकाबले कई गुना बेहतर माना जाता है। इस जगह के आस-पास रहने वाले लोगों को कभी दमा, टीबी, गठिया, चर्मरोग, आमवात, अस्थिरोग और नेत्र रोग जैसी बीमारी नहीं होती। हिमालय क्षेत्र के राज्य जम्मू-कश्मीर, सिक्किम, हिमाचल, उत्तराखंड, असम, अरुणाचल आदि क्षेत्रों के लोगों का स्वास्थ्य अन्य प्रांतों के लोगों की अपेक्षा कई बेहतर होता है। 8. यहां बहती है दिव्य अमृत नदी : जी हां हिमालय की वादियों में कहीं आज भी दिव्य अमृत नदी बहती है। जो घोर तपस्या करने के बाद ही नजर आती है। 7 साधुओं ने घोर तपस्या करके इस नदी को ढूंढ निकाला और इसका जल ग्रहण करके वो अमर भी हो चुके हैं। हिमालय के ज्ञानगंज में आज भी ये साधु तपस्या कर रहे हैं। इन पर कई किताबें भी लिखीं जा चुकी हैं।

About anshi

Check Also

विवाद / अमेजन हिंदू देवताओं की फोटो लगे जूते और टॉयलेट सीट कवर बेच रहा, सोशल मीडिया पर लोगों ने गुस्सा जताया

ट्विटर पर #बायकॉटअमेजन का ट्रेंड चला, कई लोगों ने ऐप हटाया लोग एक-दूसरे से अमेजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *