Breaking News
Home / खेल समाचार / आईपीएल क्वालिफायर-2 / दिल्ली-चेन्नई का मैच आज, कैपिटल्स की पहली बार फाइनल खेलने पर नजर

आईपीएल क्वालिफायर-2 / दिल्ली-चेन्नई का मैच आज, कैपिटल्स की पहली बार फाइनल खेलने पर नजर

  • मुकाबला विशाखापट्टनम के स्टेडियम पर, प्रसारण शाम 7:30 बजे से स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क पर
  • आज जीतने वाली टीम 12 मई को हैदराबाद में मुंबई इंडियंस के खिलाफ फाइनल खेलेगी

खेल डेस्क. इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन का क्वालिफायर-2 मुकाबला शुक्रवार को विशाखापट्‌टनम के वाईएसआर रेड्‌डी स्टेडियम पर दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच खेला जाएगा। दोनों टीमों में जो भी जीतेगी वह 12 मई को हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम पर मुंबई इंडियंस के खिलाफ फाइनल खेलेगी।

दिल्ली की टीम अब तक एक बार भी फाइनल में नहीं पहुंची है। उसने एलिमिनेटर में बुधवार को सनराइजर्स हैदराबाद को 2 विकेट से हराया था। आईपीएल के 12 साल के इतिहास में उसकी प्लेऑफ में यह पहली जीत थी। ऐसे में वह इस मैच में चेन्नई के खिलाफ जीत हासिल कर पहली बार फाइनल में पहुंचना चाहेगी।

चेन्नई जीती तो 8वीं बार फाइनल खेलेगी

चेन्नई की टीम तीन बार चैम्पियन रह चुकी है, जबकि वह 9 सीजन में से 7 बार फाइनल में जगह बनाने में सफल रही है। टीम की कमान महेंद्र सिंह धोनी के हाथों में है, जिनकी गिनती दुनिया के सबसे सफल कप्तानों में होती है। उनकी जजर टीम को आठवीं बार खिताबी मुकाबले में पहुंचाने पर होगी।

7 साल पहले चेन्नई ने ही प्लेऑफ में दिल्ली को हराया था

दिल्ली ने आखिरी बार 2012 में चेन्नई के खिलाफ प्लेऑफ मैच खेला था। एमए चिदंबरम स्टेडियम पर हुए उस मैच में चेन्नई ने 20 ओवर में 5 विकेट पर 222 रन बनाए थे। दिल्ली 16.5 ओवर में 136 रन पर ऑलआउट हो गई थी। चेन्नई की ओर से मुरली विजय ने 113 रन की पारी खेली थी, जबकि रविचंद्रन अश्विन ने 3 और शादाब जकाती ने 2 विकेट लिए थे।

चेन्नई ने दिल्ली के खिलाफ उससे दोगुने मैच जीते

आईपीएल में दिल्ली और चेन्नई के बीच अब तक 20 मैच खेले गए हैं। इनमें से चेन्नई ने 14 मैच में जीत हासिल की है, जबकि दिल्ली सिर्फ 6 मैच को ही अपने नाम करने में सफल हुई है। इसमें 2 सफलता हुए उसे पिछले 5 मुकाबलों में हासिल हुई है।

चेन्नई की ताकत

  • महेंद्र सिंह धोनी, बेहतर फिनिशर। वे टीम के टॉप स्कोरर भी। उन्होंने 13 मैच में 138.69 के स्ट्राइक रेट से 405 रन बनाए हैं। इसमें 213 रन उन्होंने 18 से 20 ओवर के दौरान बनाए।
  • स्पिनर्स तिकड़ी। इमरान ताहिर, हरभजन सिंह और रविंद्र जडेजा ने मिलकर 55 विकेट लिए। ताहिर ने 23, हरभजन ने 14 और जडेजा ने 13 विकेट अपने नाम किए। इससे पहले आईपीएल के किसी भी सीजन में किसी एक टीम के स्पिनर्स इतने विकेट नहीं ले पाए थे।

चेन्नई की कमजोरी

  • टीम का टॉप ऑर्डर। शेन वॉटसन ने पावर प्ले में सिर्फ 14.6 के औसत से ही रन बनाए। आईपीएल के इतिहास में किसी भी ओपनर का यह दूसरा सबसे कम औसत है।
  • मध्यक्रम में धोनी के अलावा कोई भी फिनिशर नहीं। अंबाती रायडू के 15 मैच में 23.72 के औसत से 261 रन हैं। पिछले साल उन्होंने 43.00 के औसत से 16 मैच में 602 रन बनाए थे।

दिल्ली की ताकत

  • क्रिस मॉरिस की डेथ ओवर्स में शानदार गेंदबाजी। उन्होंने अब तक 9 मैच में 13 विकेट लिए हैं। इसमें 10 विकेट उन्होंने डेथ ओवर्स में लिए हैं। उनको छोड़कर धोनी ने दिल्ली के हर गेंदबाज के खिलाफ 170 या उससे ज्यादा के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं।
  • पृथ्वी शॉ और ऋषभ पंत का समय पर फॉर्म में लौटना। विशाखापट्टनम में हुए पिछले मैच में पृथ्वी ने 56 और ऋषभ ने 49 रन बनाए। इस मैच में भी बढ़िया पारी की उम्मीद।

दिल्ली की कमजोरी

  • कगिसो रबाडा के बाहर होने से टीम का पेस अटैक कमजोर हुआ। ट्रेंट बोल्ट उनका विकल्प बनने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन वे पावर प्ले में महंगे साबित हो रहे हैं।
  • टीम के मध्यक्रम का लचर प्रदर्शन। 4 से 7 नंबर पर उतरने वाले बल्लेबाज 20.5 के औसत से ही रन बना पाए हैं। इस सीजन में यह तीसरा सबसे खराब औसत है।

विशाखापट्टनम में पहली बार चेन्नई-दिल्ली का मुकाबला
विशाखापट्टनम में आईपीएल के अब तक 12 मुकाबले हुए हैं। इनमें से 7 मैच में पहले खेलने वाली टीम जीती है, लेकिन पिछले मुकाबले में दिल्ली ने रन चेज करते हुए हैदराबाद को हराया था। चेन्नई-दिल्ली के बीच इस मैदान पर पहली बार कोई मुकाबला होगा। धोनी की टीम यहां 7 साल बाद कोई मैच खेलेगी। पिछली बार 2012 में उसने डेक्कन चार्जर्स को हराया था।

पिच का मिजाज : यहां की पिच बल्लेबाजों के लिए मुफीद मानी जाती है, लेकिन पिछले मैच के आंकड़ों पर नजर डालें तो यह स्पिनर्स के लिए भी मददगार हो सकती है। पिछले मैच में तेज गेंदबाजों ने यहां 9.6 के इकॉनमी रेट से रन दिए, जबकि स्पिनर्स के मामले में यह आंकड़ा 6 रहा। खिलाड़ियों को यहां की गर्मी और नमी से जूझना पड़ेगा।

दोनों टीमें:

दिल्ली कैपिटल्स : श्रेयस अय्यर (कप्तान), आवेश खान, बंडारू अयप्पा, अंकुश बैंस, ट्रेंट बोल्ट, शिखर धवन, कॉलिन इनग्राम, संदीप लमिछने, मनजोत कालरा, अमित मिश्रा, क्रिस मॉरिस, कॉलिन मुनरो, ऋषभ पंत, अक्षर पटेल, हर्षल पटेल, कीमो पॉल, कगिसो रबाडा, शेरफेन रदरफोर्ड, जलज सक्सेना, इशांत शर्मा, पृथ्वी शॉ, हनुमा विहारी, नाथू सिंह।

चेन्नई सुपरकिंग्स : महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान और विकेटकीपर), अंबाती रायडू, शेन वॉटसन, सुरेश रैना, रविंद्र जडेजा, ड्वेन ब्रावो, दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर, हरभजन सिंह, इमरान ताहिर, मुरली विजय, ध्रुव शौरी, फाफ डुप्लेसिस, ऋतुराज गायकवाड़, मिशेल सैंटनर, डेविड विली, सैम बिलिंग्स, समीर, मोनू कुमार, कर्ण शर्मा, केएम आसिफ, मोहित शर्मा।

About Yogesh Singh

Check Also

भारत-न्यूजीलैंड के बीच मैच कल, नेपियर में 10 साल से नहीं जीती टीम इंडिया

भारतीय टीम 23 जनवरी से न्यूजीलैंड दौरे की शुरुआत करेगी। टीम इंडिया को पांच वनडे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *