Breaking News
Home / विविध न्यूज़ / पहली बार / भारतीय सेना को हिमालय में 32 इंच लंबे पगमार्क मिले, अनुमान- येति के निशान हो सकते हैं

पहली बार / भारतीय सेना को हिमालय में 32 इंच लंबे पगमार्क मिले, अनुमान- येति के निशान हो सकते हैं

  • 9 अप्रैल को रहस्यमयी पगमार्क मकालु बेस कैंप के पास नजर आए, सेना ने ट्विटर पर पोस्ट कीं तस्वीरें
  • पौराणिक कथाओं में विशालकाय हिममानव का जिक्र, कहा जाता है कि ये इंसान और वानर की तरह
  • हिमालय में हिम मानव या येति की मौजूदगी को लेकर सोशल मीडिया पर छिड़ी बहस

नई दिल्ली. भारतीय सेना को हिमालय में 32 इंच लंबे और 15 इंच चौड़े पगमार्क मिले हैं। माना जा रहा है कि ये हिममानव या येति के हो सकते हैं, जिनका जिक्र पौराणिक कथाओं में किया जाता रहा है। सेना की ओर से बर्फ पर पगमार्क की तस्वीरें सोमवार को ट्विटर अकाउंट पर शेयर की गईं। आर्मी के मुताबिक, यह रहस्यमयी पद चिह्न 9 अप्रैल को सेना के दल को मकालू बेस कैंप (ऊंचाई 5250 मीटर) के पास नजर आए थे। पहले भी नेपाल के मकालू-बरुन नेशनल पार्क में हिम मानव की मौजूदगी के दावे किए जा चुके हैं। 

 

आर्मी के द्वारा तस्वीरें पोस्ट करने के बाद येति के अस्तित्व को लेकर सोशल मीडिया में बहस छिड़ गई है। यूजर्स ने सवाल उठाए कि कहीं यह प्रैंक तो नहीं। सिर्फ पैरों के निशान ही क्यों शेयर किए? कुछ लोगों ने कहा कि शायद भारतीय सेना का ट्विटर अकाउंट हैक हो गया है।

 

सोशल मीडिया यूजर्स की प्रतिक्रियाएं 

 

भाजपा नेता तरुण विजय ने कहा, हमें सेना पर गर्व है, लेकिन येति को रहस्यमी न कहा जाए, वे हिममानव हैं।

 

 

पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भाजपा पर चुटकी ली

 

 

येति को लेकर अलग-अलग दावे

हिमालय में येति की मौजूदगी को लेकर अलग-अलग दावे किए जाते रहे हैं। कहा जाता है कि येति इंसान और वानर की तरह दिखते हैं, जो सामान्य मानव से काफी बड़े होते हैं। इन्हें हिमालय का असली निवासी माना जाता है। हालांकि, अभी तक येति की मौजूदगी के पुख्ता प्रमाण नहीं मिले हैं।

About Yogesh Singh

Check Also

newsdunia24

पाकिस्तानी की बड़ी साजिश नाकाम, गुजरात में पकड़ा गया ड्रग्स का जखीरा

गुजरात में पकड़ी गई 100 किलो हेरोइन गुजरात तट से दूर एक नाव से पकड़े …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *